ALIGARH

आईजीआरएस में प्राप्त शिकायतों के निस्तारण में मण्डल के प्रथम आने पर अधिकारियों को दी बधाई

रिपोर्टर आकाश कुमार

अलीगढ़ जनपद में आज सोमवार को 16 जनवरी 2023 को आईजीआरएस पर प्राप्त शिकायतों के गुणवत्तापूर्ण निस्तारण में अलीगढ़ मंडल को सूबे पर अव्वल आने पर मंडलायुक्त अलीगढ़ मंडल अलीगढ़ ने सभी अधिकारियों को शुभकामनाएं दी हैं,

इस दौरान उन्होंने कहा कि इसका श्रेय किसी एक व्यक्ति या जिले को नहीं बल्कि टीम भावना का नतीजा ही है।
उन्होंने कहा कि आगे भी सभी अधिकारी ठीक इसी प्रकार से अच्छे से कार्य करेंगे ताकि प्रथम पोजीशन को यथावत बरक़रार रखा जा सके। लोक कल्याणकारी योजनाओं के सफल संचालन में कार्यक्रम क्रियान्वयन विभाग द्वारा जारी रैंकिंग में मंडल छठवें स्थान पर आने पर मंडलायुक्त ने सभी अधिकारियों को और मेहनत से कार्य करने के निर्देश देते हुए कहा कि इतना बड़ा सिस्टम इसी लिए है कि केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ प्रत्येक पात्र व्यक्ति को प्राप्त हो। उन्होंने सभी को नववर्ष की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि योजनाओं को धरातल तक पहुंचाने के लिए एकजुटता के साथ कार्य करें।

इसमें यदि अधीनस्थों द्वारा किसी प्रकार की लापरवाही, हीलाहवाली या किसी प्रकार का अवरोध उत्पन्न किया जाता है तो उनके खिलाफ सख्त कार्यवाई की जाए,

उक्त निर्देश मंडलायुक्त अलीगढ़ नवदीप रिणवा ने कमिश्नरी सभागार में व्यक्त किए। मंडलायुक्त सोमवार को कमिश्नरी सभागार में मंडल के सभी जिलाधिकारियों, मुख्य विकास अधिकारियों के साथ विकास, कर-करेत्तर एवं राजस्व वसूली की मासिक समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने लोकहितकारी योजनाओं में जनपद हाथरस को 9 वें एवं अलीगढ़ को 17 वें स्थान पर आने पर बधाई देते हुए इनके साथ ही कासगंज व एटा को और अधिक मेहनत करते हुए राज्य रैंकिंग में अपेक्षित सुधार लाने के निर्देश दिए,

बैठक में शीर्ष प्राथमिकता वाली योजनाओं में सबसे खराब स्थिति प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में गोल्डन कार्ड बनाये जाने, परिवार नियोजन की पाई गई,

समीक्षा के दौरान पाया गया कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में मंडल में ओवरऑल 43.34 प्रतिशत ही कार्य हुआ है। अलीगढ़ में 52.35 प्रतिशत, एटा में 49.62, कासगंज में 39.51 प्रतिशत वहीं हाथरस की 31.88 प्रतिशत प्रगति पाई गई। यदि आँकड़ों की बात करें तो 611368 परिवारों में 2632615 लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाए जाने हैं। मंडल भर में अब तक 878294 गोल्डन कार्ड बनाए गए, 328627 परिवार ऐसे हैं जिनमें कम से कम एक सदस्य का कार्ड बन गया है,
गत माह में 28838 गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं।
मंडल में अब तक 90594 लाभार्थियों के योजना का लाभ प्राप्त किया, जिसमे सर्वाधिक अलीगढ़ जिले में 65994 व्यक्तियों ने योजना से उपचार का लाभ प्राप्त किया है,
मंडलायुक्त ने व्यापक प्रचार प्रसार एवं जागरूकता लाकर परिवार नियोजन के लक्ष्य को प्राप्त करने के कड़े निर्देश दिए हैं।

उप निदेशक लघु सिंचाई ने बताया कि 12 चैकडेम का मण्डल में लक्ष्य दिया गया है। एसई सिंचाई द्वारा बताया गया कि सिल्ट सफाई का कार्य पूर्ण कराते हुए शत-प्रतिशत टेल फीडिंग की कार्यवाही की गयी है। मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि सिल्ट सफाई के दौरान सड़कों पर निकाली गयी मिट्टी का जल्द से जल्द हटवाकर सड़क मरम्मत का कार्य सुनिश्चित किया जाए ताकि आवागमन सुचारू रूप से हो सके। विद्युत विभाग की समीक्षा में मण्डलायुक्त ने समय से विभागीय अधिकारियों को विद्युत बिल प्रेषित किये जाने के साथ ही लाइन लॉस को कम करने के निर्देश दिये।
निवेश मित्र एवं झटपट पोर्टल पर निर्धारित समय से पूर्व का कोई प्रकरण लम्बित नहीं पाया गया। नई सड़कों के निर्माण, चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य में मण्डल की स्थिति 71 प्रतिशत पाई गयी। मण्डल के अन्य जनपदों से अलीगढ़ की स्थिति खराब पाये जाने पर उन्होंने असंतोष प्रकट किया,
इसी प्रकार ओडीआर-एमडीआर, राज्य मार्गों के अनुरक्षण में मण्डल की प्रगति 60 व अलीगढ़ की प्रगति 54 प्रतिशत रहने पर उन्होंने कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये,
मण्डल में बन रहे 18 सेतु में से किसी 3 पर कार्य पूर्ण होना पाया गया जबकि शेष के मार्च मासान्त तक पूर्ण किये जाने का आश्वासन दिया गया।

इधर पीएम किसान सम्मान निधि योजना में अलीगढ़ में सर्वाधिक लगभग 90 हजार किसान ई-केवाईसी न होने से लाभ से वंचित हैं,
मण्डलायुक्त ने समस्त सीडीओ को योजना की समीक्षा कर छूटा हुआ डाटा सुधार कर फीड कराने के निर्देश दिये ताकि किसानों को सम्मान राशि प्राप्त हो सके। मण्डलायुक्त ने पीएम फसल सुरक्षा बीमा योजना में अधिक से अधिक प्रभावित किसानों को लाभान्वित कराने के निर्देश देते हुए कहा कि बैंक किसानांे के प्रीमियम की किस्त समय से बीमा कम्पनी को भेजना सुनिश्चित करें। निराश्रित गौवंश संरक्षण, सहभागिता योजना, टीकाकरण की समीक्षा के दौरान सहभागिता योजना में जनपद एटा व कासगंज को और अधिक कार्य करने के निर्देश दिये गये। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में पाया गया कि एम्बुलेंस सूचना मिलने पर समय से पहुॅच रहीं हैं। उन्होंने एटा में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज के निर्माण कार्य में तेजी लाते हुए गुणवत्ता एवं मानक के अनुरूप कार्य कराने के निर्देश दिये ताकि जल्द से जल्द जरूरतमंदों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिल सके। उन्होंने वीएचएसएनडी एक्टिविटी में जनपद कासगंज को सुधारात्मक कार्य करने के निर्देश देते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग की बैकबोन मानी जाने वाली आशा संगिनियों की रिपोर्टिंग एवं भ्रमण शत-प्रतिशत कराते हुए उनके मानदेय का समय से भुगतान सुनिश्चित किया जाए।
पंचायत भवन निर्माण की समीक्षा में पाया गया कि 2328 के सापेक्ष 902 का निर्माण कार्य पूर्ण हो गया है जबकि 1345 ग्रामों में पहले से ही पंचायत भवन हैं। मण्डलायुक्त ने जल्द से जल्द शेष ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन क्रियाशील कराने के निर्देश दिये। प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण की समीक्षा में बताया गया कि जल्द ही पीएमएवाई ग्रामीण की प्रथम किस्त भेजी जानी है। मण्डलायुक्त ने कहा कि धनराशि का जनहित में सदुपयोग किया जाए,
वर्ष 20-21, 21-22 में 112 आवासों के अपूर्ण रहने पर उन्होंने नाराजगी प्रकट करते हुए विगत वर्षाें के अपूर्ण आवासों को जल्द से जल्द पूर्ण कराने के निर्देश दिये। हर घर नल योजना की समीक्षा में मण्डल के तीन जनपदों के फेज-3 में होने एवं अलीगढ़ व हाथरस में एजेंसी द्वारा अच्छा कार्य न करने से कार्यों में अपेक्षानुरूप प्रगति नहीं है।
अलीगढ़ डीएम द्वारा लगातार योजना की लगातार मॉनिटरिंग किये जाने से फरवरी में सार्थक परिणाम देखने को मिलेंगे। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में 8,000 के लक्ष्य के सापेक्ष 2500 से अधिक जोड़ों विवाह कराकर लाभन्वित किया गया है। अवशेष शादियों को भी जल्द से जल्द कराते हुए लक्ष्य पूर्ण किये जाने के प्रति आश्वस्त किया गया। आपरेशन कायाकल्प की समीक्षा में जनपद हाथरस को और अधिक कार्य करने के निर्देश दिये गये। मण्डलायुक्त ने लखनऊ में आयोजित इंवेस्टर्स समिट से पूर्व जनपदीय आयोजन की जानकारी में पाया कि अलीगढ़ में 17 जनवरी, एटा व कासगंज में 24 जनवरी को जिला स्तरीय इंवेस्टर्स समिट का आयोजन होना है जबकि हाथरस में अभी तिथि का निर्धारण नहीं हुआ है।

कर-करेत्तर एवं राजस्व वसूली की समीक्षा में मण्डलायुक्त ने जीएसटी कलेक्शन बढ़ाने के लिये हर सम्भव प्रयास करने के निर्देश दिये। दिसम्बर माह में मण्डल में स्टाम्प वसूली में 29 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी देखी गयी,
एटा में स्टाम्प वसूली कम पाये जाने पर असंतोष प्रकट किया गया,
इधर एटा एडीएम ने बताया कि सर्किल रेट न बढ़ने से स्टाम्प वसूली में कमी दर्ज की जा रही है,
हाथरस में भी स्टाम्प बढ़ोत्तरी के लिये कार्य करने के निर्देश दिये। आबकारी के विभाग राजस्व वसूली में स्टेट एवरेज से काफी आगे है,
प्रवर्तन कार्य में 240 अभियोग पंजीकृत किये जाने के साथ ही अवैध शराब भी पकड़ी गयी है। परिवहन विभाग द्वारा आवंटित लक्ष्य के सापेक्ष 71 प्रतिशत उपलब्धि अधिक पायी गयी, जोकि विगत वर्ष से 25 प्रतिशत एवं प्रदेश की औसत वसूली से 04 प्रतिशत अधिक है। मण्डलायुक्त ने ज्वाइंट चैकिंग कराते हुए प्रवर्तन कार्य कराने के निर्देश दिये,
विद्युत विभाग द्वारा पुरानी आरसी वसूली में तेजी लाने के निर्देश देते हुए विभागीय समन्वय बनाकर राजस्व संग्रह में तेजी लाने के निर्देश दिये,
नगर निगम द्वारा मासिक वसूली की समीक्षा में मार्च तक लक्ष्य पूरा करने के लिये आश्व्सत किया गया,
मण्डलायुक्त ने कहा कि बचे हुए समय का सदुपयोग करते हुए लक्ष्यों को पूर्ण करना सुनिश्चित करें।
कृषि विपणन में 68 करोड़ 78 लाख के लक्ष्य के सापेक्ष 82 करोड़ की वसूली गयी। उप निदेशक मण्डी ने बताया कि मासिक लक्ष्य में भी मण्डल प्रदेश में सबसे ऊपर है। भट्टो की पुरानी रॉयल्टी वसूली कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये।
बैठक में वाटमाप, सिंचाई, लोनिवि एवं खनन की भी समीक्षा की गयी।

बैठक में डीएम अलीगढ़ इन्द्र विक्रम सिंह, डीएम एटा अंकित अग्रवाल, डीएम हाथरस अर्चना वर्मा, डीएम कासगंज हर्षिता माथुर, नगर आयुक्त अमित आसेरी, अपर आयुक्त कंचन शरण समेत चारो जनपद के मुख्य विकास अधिकारी, एडीएम प्रशासन, एडीएम वित्त, समस्त मण्डलीय अधिकारी उपस्थित रहे। बैठक का संचालन संयुक्त विकास आयुक्त सर्वेश चन्द्र द्वारा किया गया,

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker