ALIGARH

जिलाधिकारी ने कन्या सुमंगला योजना के सबंध में ली बैठक कन्या सुमंगला योजना बेटियों के लिए वरदान

जिलाधिकारी ने कन्या सुमंगला योजना के सबंध में ली बैठक
कन्या सुमंगला योजना बेटियों के लिए वरदान

रिपोर्ट आकाश कुमार

अलीगढ़ जनपद मै आज बुधवार को सरकार द्वारा चलाई जा रही मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना बेटियों के लिए वरदान साबित हो रही है,

योजना का शुभारंभ 2019 में किया गया था, जिसके बाद 2019 से 2022 तक जनपद में 16 हजार 280आवेदन हुए, मौजूदा समय में 14 हजार 157 लाभार्थियों को योजना का लाभ दिया जा चुका है,

वहीं, उन माता पिता को भी परिवार नियोजन की महत्ता समझ आ गई है, जिनके दो से ज्यादा बच्चे हैं, क्योंकि दो से ज्यादा बच्चा होने पर कन्या सुमंगल योजना का लाभ बेटियों को का भुगतान नहीं मिल पा रहा है। जिला प्रोवेशन कार्यालय के अनुसार जिन परिवारों में दो बेटियां हैं तो उन दोनों बेटियों को योजना का लाभ मिलेगा। यदि दो बेटियां एक बेटा है तो लाभ नही मिलता है। जिन परिवारों में एक बेटा एक बेटी उनको भी योजना का लाभ दिया जाएगा,

यह दस्तावेज चाहिए

आवेदन के लिए आधार कार्ड निवास प्रमाण पत्र, परिवार की वार्षिक आय तीन लाख रुपए अधिकतम दो ही बच्चियों को योजना का लाभ पासपोर्ट साइज फोटो बैंक अकाउंट की फोटो कॉपी की जरूरत होती है।

योजना की ये हैं छह श्रेणियां

प्रथम श्रेणी में बेटी के होने पर दो हजार का भुगतान,

द्वितीय श्रेणी में एक वर्ष के पूर्ण होने पर एक हजार रुपए का भुगतान,

तृतीय श्रेणी में कक्षा एक में प्रवेश पर दो हजार रुपए,

चतुर्थ श्रेणी में कक्षा 6 में प्रवेश होने पर दो हजार। पंचम श्रेणी में कक्षा 9 में प्रवेश होने पर 3 हजार, छटवीं श्रेणी में दसवीं या बारहवीं पास कर स्नातक या डिप्लोमा में प्रवेश लेने पर 5 हजार
का लाभ मिलेगा,

कैसे करें आवेदन

बालिका स्वयं यदि वयस्क हो माता पिता आनलाइन आवेदन सीएससी केंद्र साइबर कैफे, स्मार्टफोन या कम्प्यूटर आदि से पर जाकर कर सकते हैं। जिला प्रोबेशन कार्यालय से भी संपर्क कर सकते हैं,

कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत बेटियों को छः श्रेणियों में सहायता धनराशि दी जा रही है,
कुछ आवेदन फार्म तहसील व ब्लाक मुख्यालय पर लंबित चल रहे हैं, जिसके लिए पत्राचार किया गया है,

डीएम ने की समीक्षा
जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह ने सभी एसडीएम,बीडीओ, एबीएसए एवं सबंधित अन्य अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वह पोर्टल का नियमित निरीक्षण कर आवेदन पत्रों को अग्रसारित करें। किसी भी स्तर पर आवेदन पत्रों को लंबित न रखा जाए,

ज़िला प्रोबेशन अधिकारी स्मिता सिंह को निर्देशित किया कि वह प्रतिदिन पोर्टल चैक करें,
यदि तहसील में एसडीएम स्तर पर सत्यापन लंबित है तो उन्हें जिलाधिकारी को अवगत कराएं। और यदि ब्लॉक स्तर पर लंबित है तो मुख्य विकास अधिकारी को प्रतिदिन अवगत कराएंगे। स्मिता सिंह ने बताया कि एबीएसए स्तर पर 115, खण्ड विकास अधिकारी चंडौस स्तर पर 102, अकराबाद 73, जवां 68 एवं टप्पल 63 समेत कुल 676 आवेदन सत्यापन के लिए लंबित हैं। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सीएमओ द्वारा आशा एवं एएनएम को अवगत कराएं कि बच्ची के जन्म के बाद बर्थ रजिस्टर के समय ही योजना में आवेदन कराएं,
इस बैठक में सबंधित अधिकारी उपस्थित रहे,

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker