utter pradesh

फर्जी दलाल अपने शिकार को पहचान कर पार्टी का टिकट दिलाने के सपने दिखा कर लूट लेते है, लखनऊ मुख्यालय

फर्जी व दलालों का अड्डा बने बीजेपी और सपा के लखनऊ मुख्यालय
पार्टी नेताओं की अपने साथ फोटू सोशल मीडिया पे डाल फसाते है
फर्जी दलालों के लिए हर बात सम्भव,मासूमों को लगाते है चूना
पार्टी के कार्यकर्ताओं को भी नही छोड़ते ठगने से
प्रदीप शर्मा
प्रधान संपादक
शेष प्रश्न समाचार समूह की अलीगढ़ से रिपोर्ट
शेष प्रश्न लखनऊ – अभी उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार के 4 साल पूरे हुये है, और चुनाव का तुनतुना बज गया है, सिर्फ एक साल बचा है उत्तर प्रदेश के चुनावों के लिए,बस इसी का फ़ायदा ये फर्जी व दलाल उठा रहे है। ज्ञात हो कि अभी बीजेपी सत्ता में है और सपा विपक्ष में है, चुनावो की तैयारी दोनों तरफ से जोर-शोर से शुरू हो चुकी है। अभी पंचायतों के चुनावों का विगुल बज चुका है हर कोई पार्टी से जिला पंचायत सदस्य व जिला पंचायत अध्यक्ष की टिकट प्राप्त करने के लिए भागदौड़ कर रहा है, इस बात को ये कुछ फर्जी और दलाल बखूबी जानते है और अपने शिकार को पहचान करके उसको टिकट दिलाने के झूठे सपने दिखाकर लूट लेते है। कई बार तो ये फर्जी दलाल आपस मे ही काटफास कर लेते है। ये ज्यादातर फर्जी दलाल आस-पास के जिलों से है जो अपने को पार्टी कार्यकर्ता बताते है तो कभी पत्रकार, अभी बीजेपी ऑफिस में गोरखपुर की तरफ से ढेरो फर्जी दलाल भरे पड़े है। ये फर्जी दलाल लखनऊ में रहकर बहुत वार तो बीजेपी कार्यकर्ता बनकर जिले के अधिकारियों को भी हड़काने का काम भी करते है और कुछ अवैध बसूली भी। शेष प्रश्न समाचार टीम ने जब जाँच पड़ताल की तो पाया कि बहुत से ये फर्जी दलालों पर अपने ही जिले में पुलिस केस चल रहे है लेकिन पुलिस भी इनके झूठे प्रोफ़ाइल को देखकर इन्हें अरेस्ट करने से डरती है।अभी एक फर्जी दलाल ने जो गोरखपुर मंडल में एक जिला से है ने आपने यहाँ एक ज़िले के सबसे बड़े शिक्षाधिकारी को उनके ऑफिस में जाकर खुलेआम पीट दिया,शिक्षाधिकारी ने जाकर एसएसपी को बताया,कुछ नही हुआ, क्यों कि वो दलाल भाईसाहब बीजेपी के नेताओ के साथ फोटू खिंचवा कर सोशल मीडिया पर डाल के अपने जिले में रोव रखतें है इन्होने अपने जिले के बीजेपी कार्यकर्ताओं को भी अपने झूठे प्रपंच में फंसा रखा है,इसीलिए इनको पुलिस छू भी नही सकती और ये लखनऊ में बैठकर दलाली कर लोगो को अपनी फर्जी बातों से फंसाकर लोगी को लूट रहे है।
ये फर्जी दलाल अपने कार्य मे इतने माहिर है कि शक्ल देखकर ही पता लगा लेते है कि लूटने वाले शख्स के पास कितना पैसा होगा और कितना लूट सकते है। परंतु सबसे बड़ी ताज्जुब की बात ये है कि जो ये फर्जी दलाल भारतीय जनता पार्टी व समाजवादी पार्टी के मुख्यालय में हर समय रहते है वो किसी भी पार्टी के सदस्य तक नही है, जब इनका झूठ पकड़ में आता है तो ये फ़ौरन पत्रकार बन जाते है।
इन फर्जी दलालों की माने तो ये किसी को भी विधायक व मंत्री तो छोड़िए अमेरिका में सीनेटर तक बनबा दे,गज्जब बात ये है कि बीजेपी व सपा के नेताओ को भी इन फ़र्जी दलालों की हकीकत मालूम है पता नही कार्यवाही क्यों नही करते या करना नही चाहते,ये भी हो सकता है कि कुछ कार्यकर्ता इन झूठे फर्जी दलालों के साथ सम्मिलित हो कर लूट का बन्दरवाट करते लेते हैं, इस दौरान
1 – ये फर्जी दलाल लुटेरे आख़िर कब तक मासूमो को लूटते रहेंगे…?
2 – आख़िर ये राजनीतिक पार्टियां इनको रोकती क्यों नही..?
3 – क्या कुछ राजनीतिक लोग भी इनसे जुड़े है..या सरंक्षण है..?
4 – इन फर्जी दलालों के पहचानपत्र चेक क्यों नही होते..?
5 – ये फर्जी दलाल इतनी आसानी से पार्टी नेताओं से कैसे मिल लेते है..?
6 – पार्टी दफ्तर पर 24 घन्टे पड़े रहने पर इनसे कोई क्यों नही पूछता..?
7 – सेकड़ो फर्जी दलाल पार्टी दफ्तर से जिले के अधिकारियों को हड़काने का काम करते है.. कार्यवाही कब..?
8 – सेकड़ो फर्जी दलालों पर अपने जिले में कई मुकदमा.. गिरफ्तारी कब..?
9 – ये फर्जी दलाल जिले की लोकल बॉडी में कैसे वायर्स की तरह घुस जाते है बिना कार्यकर्ता बने..?
10 – पार्टी कार्यकर्ताओं के काम नही होते लेकिन इन फर्जी दलालों के काम आसानी से हो जाते है ..?
शेष प्रश्न समाचार टीम ने लखनऊ में लगभग सभी पार्टियों के मुख्यालयों में जाकर ये रिपोर्ट तैयार की है जल्द फि फर्जी दलाल कर्मिनलो की कुंडली प्रकाशित करेगा।शेष प्रश्न समाचार का सभी पार्टी नेताओं से अनुरोध है कि ऐसे फ़र्जी दलाल कर्मिनलो से अपने पार्टी मुख्यालय को मुक्त बनाये तथा कुछ समाधान निकाले जिससे लोग इनके झूठे झांसे में आकर लूटने से बचे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker