बिहार में विधायक बनते ही बनाऊंगा अपना आशियाना, करूंगा विकाश

संवाददाता रमेश कुमार की रिपोर्ट बिहार से 11/10/2020

बिहार में चुनावी मैदान में मतदातयोको अब नेताओं के अलग-अलग रंग देख ने को मिल रहे हैं. चुनाव परिणाम के बाद कभी नजर न आने वाले नेता अब वोटरों को लुभाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं. घर-घर जाकर पैरो मे गिर कर कह रहे हैं आप बस हमारा ध्यान रखना ऐसी ही एक तस्वीर बीजेपी प्रत्याशी की प्रकाश में आई है.
इस दौरान दिनांक 10/10/2020 को
बिहार विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष और आरा सीट से भाजपा प्रत्याशी अमरेंद्र प्रताप सिंह चार बार विधायक रह चुके हैं. अमरेंद्र प्रताप को बीजेपी ने 2015 के चुनाव में भोजपुर से टिकट दी थी.परंतु
इस बार चुनाव में उन्हें 666 वोट से हार का सामना करना पड़ा था. एक बार फिर बीजेपी ने उन्हें चुनावी मैदान में उतारा है. ऐसे में अमरेंद्र प्रताप इस बार एक-एक वोटरको प्रलोभन देने में लगे हुए हैं परंतु गांव-गांव जाकर लोगों के पैर पकड़ कर आशीर्वाद मांग रहे हैं.इस दौरान यह भी
कहा है कि इतने साल मेहनत करते रहे, लेकिन कुछ हासिल नहीं कर सका. अब उद्येश्य है कि विधायक बनने के बाद अपना घर मकान बना सकें और अपने परिवार का विकास कर सकें. इसी मकसद से नामांकन किया है.
शेखपुर जिले की बरबीघा विधानसभा क्षेत्र के पूरनकामा गांव में दर्जी का काम करने वाले राजेंद्र प्रसाद ने चुनाव में पर्चा भरा है. साइकिल से नामांकन करने पहुंचे. राजेंद्र का कहना है कि यदि विधायक बने तो पहले अपना विकास करेंगे. बोले विधायक बनने के बाद लोग दिल्ली, मुंबई में फ़्लैट खरीदते हैं, अपनी पूंजी बढ़ाते हैं परंतु कला धन भी अज्ञात जगह पर छुपाते हैं

Leave a comment

Your email address will not be published.