utter pradesh

ब्रेकिंग न्यूज गोरखपुर मै मीटर रीडरो ने 350 बिधुत मीटर में 5.50 लाख रीडिंग की स्टोर, विभाग मै मचा हड़कंप

अनिल कुमार की रिपोर्ट 26/08/21

जनपद गोरखपुर महानगर में डीटीवार बिलिंग से उपभोक्ताओं व मीटर रीडरों की मिलीभगत का बड़ा ‘खेल सामने आया है। नगरीय मण्डल के चारों वितरण खण्डों के करीब 350 बिधुत मीटर में 5.50 लाख यूनिट रीडिंग स्टोर मिली है।नए मीटर रीडरों की रिपोर्ट पर अभियंताओं ने सभी संबंधित के बिजली बिल में स्टोर रीडिंग का पैसा चार्ज कर दिया है।अचानक बिजली बिल की राशि बढ़ने से उपभोक्ता परेशान हैं। उन्हें अफसोस हो रहा है कि थोड़ी सी बचत के लालच में आकर अब बिल के मद में बड़ी रकम चुकानी पड़ेगी।पावर कारपोरेशन के निर्देश पर इस माह शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में डीटीवार बिलिंग सिस्टम लागू हुआ है। इसमें एक ट्रांसफार्मर से जुड़े सभी कनेक्शन पर बिल बनाने के बाद ही दूसरे ट्रांसफार्मर पर बिलिंग शुरू होगी। बिलिंग एजेंसी के मीटर रीडरों को बीट आवंटित किया गया है। इस बीट आवंटन में बहुत से मीटर रीडरों को पुराने क्षेत्र से हटाकर नए क्षेत्र की जिम्मेदारी दी गई है। नए मीटर रीडरों ने सभी चारों खण्डों में ट्रांसफार्मर वार बिलिंग शुरू की तो पुराने मीटर रीडरों व उपभोक्ताओं की मिलीभगत से रीडिंग स्टोर का खेल खुलने लगा।बिधुत अभियंताओं का कहना है कि मीटर रीडरों के बहकावे में आकर उपभोक्ताओं ने थोड़ी बचत के लालच में मीटर में रीडिंग छोड़कर बिल बनवाना शुरू कर दिया। यही वजह है कि अबतक जितने भी रीडिंग स्टोर वाले मामले सामने आए है उनके औसतन एक हजार से 5 हजार यूनिट तक रीडिंग स्टोर हैं।टाउनहाल वितरण खण्ड प्रथम के अधिशासी अभियंता ने बताया कि हमारे खण्ड में करीब 50 कनेक्शनों पर रीडिंग स्टोर के मामले सामने आए है। सभी के बिल में स्टोर रीडिंग का पैसा चार्ज कर दिया गया है।

इधर अभियंताओं का कहना है कि बिलिंग सिस्टम की नई प्रक्रिया से बिलिंग व्यवस्था प्रभावित हो गई है। लेकिन इसका फायदा यह हुआ है कि नान ट्रेसेबल उपभोक्ता भी पकड़ में आने लगे हैं। 175 से अधिक दो से तीन लाख के बकाएदार ट्रेस हो गए हैं। अब उनसे वसूली की प्रक्रिया चल रही है।सिस्टम ने इस तरह से बनाया बिलबिधुत निगम के अभियंताओं ने बताया की घरेलू कनेक्शन पर ऑनलाइन बिलिंग सिस्टम में स्टोर रीडिंग फीड करते ही सिस्टम 150 यूनिट का 5.50 रुपये प्रति यूनिट चार्ज करता है। 151 से लेकर 300 यूनिट तक 6 रुपये प्रति यूनिट व 301 से 500 तक 6.50 रुपये प्रति यूनिट इससे अधिक की रीडिंग पर 7 रुपये प्रति यूनिट। यही वजह है कि रीडिंग स्टोर वाले प्रकरण में बिल धनराशि अचानक बढ़ गई है। दुकानों के कनेक्शन के मीटर में रीडिंग स्टोर के मामलें में रीडिंग फीडर करने पर आनलाइन बिलिंग सिस्टम एक से 300 यूनिट तक 7.50 रुपये प्रति यूनिट, 301 से 1000 तक 8.40 रुपये प्रति यूनिट, इससे अधिक की रीडिंग पर 8.75 रुपये प्रति यूनिट चार्ज करता है।इस दौरान उच्च अधिकारियो ने बताया की बिलिंग की नई व्यवस्था से काफी कुछ सुधार हुआ है। रीडिंग स्टोर के सैकड़ों प्रकरण सामने आए हैं। परन्तु अभियंताओं ने सभी की रीडिंग सिस्टम में चार्ज कर बिल बना दिया है। हालांकि बिलिंग प्रतिशत कम हो गया है। बिलिंग एजेंसी के मीटर रीडरों की निगम विरोधी कार्यप्रणाली भी सामने आने लगी है। उन्हें चिह्नित किया जा रहा है,

ई. यूसी वर्मा, अधीक्षण अभियंता, नगरीय वितरण मण्डल ने यह जनकारी दी है

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker