मिशन शक्ति फेज़-4 के तहत,हक की बात जिलाधिकारी के साथ,कार्यक्रम हुआ सम्पन्न रिपोर्टर आकाश कुमार आयोग हर कदम पर महिलाओं के साथ, सरकार महिलाओं की सुरक्षा व सम्मान की उठा रही पूरी जिम्मेदारी,मीना कुमारी जनपद अलीगढ़ 2 जून 2022 सू0वि0, मिशन शक्ति फेज़-4 के तहत कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित ’’हक की बात जिलाधिकारी के साथ’’ कार्यक्रम में स्कूली छात्राओं ने जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. के सम्मुख बड़ी बेबाकी से अपने सवाल रखे, जिला मजिस्ट्रेट ने कार्यक्रम की संवेदनशीलता और महत्ता को दृष्टिगत रखते हुए बड़ी सरलता एवं सहजता के साथ बालिकाओं के सवालों का जवाब देते हुए उनकी जिज्ञासाओं को शांत किया, नारी सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन के लिए संचालित मिशन शक्ति के तहत प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित कर नारी सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन को बढ़ावा देते हुए महिलाओं को उनके अधिकारों, कर्तव्यों के प्रति जागरूक किया जा रहा है। इधर उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की मा0 सदस्य श्रीमती मीना कुमारी ने कहा कि आज बेटा और बेटी में कोई अंतर नहीं रह गया है, जहां बरसों पहले बेटियों को गर्भ में मार दिया जाता था या फिर बेटी के जन्म को लेकर गर्भवती को तरह-तरह के ताने मारे जाते थे, आज सरकार द्वारा आयोजित विभिन्न प्रकार के जागरूकता कार्यक्रमों के बलबूते बेटियों के जन्म पर मिठाईयां बांटकर खुशियां मनाई जाती हैं। उन्होंने लोक सेवा आयोग द्वारा जारी परिणाम का जिक्र करते हुए कहा कि बेटियां भी अपनी योग्यता का परचम पूरी तरह से लहरा रही हैं। उन्होंने कहा कि बेटियों को आत्मनिर्भर एवं आत्मरक्षा के प्रति जागरूक होना चाहिए। प्रदेश सरकार कन्या सुमंगला योजना के माध्यम से जन्म से लेकर शिक्षा एवं शादी तक का जिम्मा उठा रही है। दहेज जैसी कुप्रथा को समूल नष्ट करने के लिए मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना का संचालन कर प्रतिजोड़ा 51000 रूपये खर्च कर सरकार द्वारा नव दंपतियों को आशीर्वाद दिया जा रहा है। उन्होंने बालिकाओं को नसीहत देते हुए कहा कि वह घर वालों की बात मानें, उनका विश्वास जीतें और उनके भरोसे पर खरा उतरें। आयोग हर कदम पर उनके साथ है। सरकार उनकी सुरक्षा सम्मान की पूरी जिम्मेदारी उठा रही है। इस दौरान जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा अक्टूबर 2020 में शुरू किया गया मिशन शक्ति अभियान अपने चौथे चरण में प्रवेश कर गया है। महिलाओं को जागरूक करना, उन्हें सुरक्षित रखना और अपराध करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाना मिशन शक्ति का उद््देश्य है। चिरंजीलाल बालिका इंटर कॉलेज कक्षा 12 की छात्रा सलोनी ने सवाल किया कि सरकार द्वारा महिलाओं की सुरक्षा, अधिकार व प्रयोग के बारे में क्या कदम उठाए गये हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि वर्तमान में हर क्षेत्र में महिलाओं का दखल बढ़ा है। सरकार द्वारा जागरूकता कार्यक्रम के लिये बजट का प्राविधान भी किया गया है। सरकार महिलाओं की सुरक्षा के प्रति संवेदनशील है, महिला सुरक्षा के लिये व्यापक स्तर पर कार्य किये जा रहे हैं। हर थाने में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना एवं मनरेगा में भी महिलाओं को एक्ट के अनुरूप कार्य दिया जा रहा है। विंग्स ऑफ डिजायर एनजीओ से जकिया जफर के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि दहेज पृथा एक सामाजिक समस्या है जिसे सामाजिक जागरूकता से ही खत्म किया जाएगा,

Leave a comment

Your email address will not be published.